DARK SIDE..

Oh Baby, I won’t do you wrong,

One because I don’t like to,

Two because you are too weak for that.

PS- Take this just as a piece of writing. I have nothing as such. It’s just that while writing we can think of things we never do. 🙂And “baby” here is imaginary. 😛

Author: Angry Bird

A dope soul and deep mind with a hot temper.

20 thoughts on “DARK SIDE..”

    1. सीख रहा हूँ न बंधु, 😂 आप भी तो प्रेरणास्रोत हो, सबको ही अंग्रेजी पसन्द है कहाँ कोई हिंदी ध्यान देता है🙏

      Liked by 1 person

        1. बंधु यहां हिंदी भाषी ज़्यादा ही हैं कम तो है नहीं, पर अपनी राज्य भाषा या मातृभाषा में लिखते ही कम हैं न जाने क्यों? मैं किसी की निंदा नही कर रहा। मैं बचपन से इसी भाषा मे रहा हूं इसे छोड़ और किसी भाषा से मेरा प्रेम ही नहीं उमड़ता। क्या पता लोग अंग्रेजी में मनन भी करते हों। जहाँ तक मैं सोचता हूँ लोग कुछ कारणों से ही अंग्रेजी में लिखते है, बोलते हैं, उनकी अंग्रेजी अच्छी है, यह लोगों को ज़्यादा आकर्षित करती है और ज़्यादातर लोग यहां फॉलो बढ़ाने ही आये हैं।

          Like

          1. Don’t judge people like this.. See, ek to aap ne khud hi reason de diya.. 1. aap ne hindi sabse zyada likhi ya pdhi.. Abb dekho school mein bhi hindi ek hi subject hota hai, wo bhi sirf 8th class takk.. uske baad one has to decide whether to take it or not (it becomes optional). Toh jaise ap iska istemaal zyada kar rhe hain, aur log english ka zyada istemaal karte honge. 2. Har kisi ki apni choice hoti hai.. 3. International level pe english har communication ke liye use hoti hai (mostly) aur logo ke paas kaam karne ke liye aur language ka use karna difficult hai.. 4. Logo ko iss language mein zyada kaam karna hota hai. Personally speaking, I have to do everything in english, so my mind has a big majority of thoughts in english only.

            Iske ilawa apke reason ki logo ko attractive lagti hai english, ho skta hai ye reason bhi.. Par wo unki choice hai.. Jaise apko hindi attractive lagti hai.

            Ok.. I would like criticize little bit here, please don’t take it to your heart but you are yourself degrading hindi by saying these things that english is more attractive and it lets people gain more followers.
            Followers ki baat hai to, hum website use kar rhe hain, toh isme hindi use karne waale bohot kam log milenge (applies to other social media platforms too).
            So, please try to understand other reasons, it broadens our perspective. 😊🙏

            Liked by 1 person

            1. आपकी बातों से सहमत हूं, क्योंकि आपका सोच का दायरा ही अंग्रजी है, आपने अंग्रेजी को एक हाथ मे रख के बात की। आपने हिंदी को अच्छे से जाना ही नहीं। चलिये कोई नहीं। आपका जवाब मुझे अच्छा लगा। प्रसन्न रहिये और मैंने किसी को जज नहीं किया। मैंने बस अपनी बात रखी।

              Like

          2. And, hindi can be your mother tongue but even in India, it’s not matrubhasha of even 50% of Indians. Apart from that, there are 23 official languages of India; jisme hindi aur english stands equally.. (just describing facts so that they can open up mind)..

            Liked by 1 person

            1. 22 हैं 23 नहीं अंग्रेजी हमारे देश की भाषा नहीं है। और अंग्रेजी और हिंदी समान रूप में नहीं हैं कहीं भी। आप चीजों पर मनन करिए तो आप अच्छे से जान सकोगे। आपकी अपनी इच्छा है किसी भी भाषा में लिखिए पर हम अपने देश मे रह के अपनी भाषा को उतनी वरीयता नहीं देते यह भी सत्य है और बात पढ़ाई की तो शोध करने तक हम हिंदी भाषा प्रयोग में ले सकते है। हर कोई इक्छुक नहीं बस यही अंतर। जो बचपन से ही अंग्रेजी माध्यम की स्कूल में गया हो उसे हिंदी को जानने में वक्त ही लगेगा। सबको अंग्रेजी में भविष्य दिखता हिंदी ने नहीं। बस यही दिक़्क़त है।

              Liked by 1 person

              1. Okay.. you are just not ready to understand other people’s perspective. You see it as a problem in them. Jab aapki hindi usage pe koi question ni karta.. toh aap auro ki language pe question kyu kar rhe ho?? Aur maine 23 isliye kaha kyuki 22 toh 8th schedule mein NATIONAL LANGUAGES kahi gyi hain.. Par constitution mein likha hai ki Hindi jab tak applicable nahi ho skti officially tab tak english ka istemaal hoga (I used the word official languages)..

                Liked by 1 person

                1. आपकी okay का प्रयोग मैं भी करूंगा। अगर आप सहमत नहीं सकते तो कुछ कहना ही नहीं। और अंग्रेजी बस न्यायपालिका भी भाषा है और हिंदी उन 22 भाषाओं में से एक है। आप कृपया फिर से देखें।

                  Liked by 1 person

                  1. 😜😜 pta hai mujhe ye.. Par maine 23 official languages kaha.. national ni naa.. national official languages 22 hain.. english only official language, toh total official 23 hui, but national official 22..

                    Liked by 1 person

                    1. जो आप सही समझें। 🙏 आपको अंग्रेजी प्रिय ही उसका समर्थन आपने किया। आप सराहनीय हैं।

                      Like

              2. Aur rahi baat hindi bhasha prayog mein le skte hain ki.. of course anyone can.. nobody is stopping anyone, nor anyone have any right to stop anyone as you said “aapki apni ichha” ..
                Moreover, I am not even getting what you are trying to say here.. Thik hai log nahi use karte, pehle karte the.. Par pehle to sanskrit boht use hoti thi.. Abb kon krega??
                Actually, you are having a traditional perspective, I am having utilitarian perspective and none of them is wrong or right here..

                Liked by 1 person

                1. चलिये आपको आपकी संस्कृति को बचाने में कोई उत्सुकता ही नहीं। ये आपके विचार हैं। मैं अपनी बात किसी पर थोप नहीं रहा। बस लोग इस दुनिया मे अपना-अपना के चक्कर में कुछ तो खो रहे हैं।

                  Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s